हाथरस मामले का मुख्य आरोपी मधुकर गिरफ्तार,हादसे के बाद फरार था एक लाख का इनामी

हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ से हुई 121 मौतों के मामले में फरार मुख्य आरोपी देवप्रकाश मधुकर ने दिल्ली में आत्मसमर्पण कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के वकील एपी सिंह ने दावा किया कि मधुकर को रात दस बजे यूपी पुलिस के विशेेष जांच दल को सौंप दिया है।

हाथरस पुलिस मधुकर को यूपी के साथ राजस्थान व हरियाणा में तलाश करने का दावा कर रही थी। सरेंडर के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में दर्ज प्राथमिकी में मुख्य सेवादार मधुकर इकलौता नामजद आरोपी है। उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था।

वकील एपी सिंह ने कहा, मधुकर दिल्ली में इलाज करा रहा था। हम जांच में मदद करना चाहते हैं। सत्संग के लिए मधुकर ने ही प्रशासन से मंजूरी ली थी। कार्यक्रम का मुख्य आयोजनकर्ता भी वही था। उस पर गैर इरादतन हत्या, सबूत मिटाने समेत भारतीय न्याय संहिता की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज है।

 

हाथरस पुलिस ने कहा-राह चलते किया गिरफ्तार

हाथरस के पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल ने बताया कि एक लाख के इनामी मधुकर की पुलिस टीम ने गिरफ्तारी कर ली है। यह गिरफ्तारी दिल्ली से राह चलते हुई है। अस्पताल से कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है

।आगरा जोन की एडीजी अनुपम कुलश्रेष्ठ ने बताया, एसआईटी जल्द ही मुख्यमंत्री को अंतिम रिपोर्ट सौंपेेगी। अब तक 132 गवाहों के बयान दर्ज किए हैं। वहीं, एक पुलिस अधिकारी ने बताया, अभी किसी को क्लीनचिट नहीं दी गई है। पुलिस पूछताछ के लिए नारायण साकार विश्व हरि उर्फ भोले बाबा को भी तलाश रही है। हालांकि भोले बाबा प्राथमिकी में नामजद नहीं है। इस बीच, जांच के लिए गठित न्यायिक आयोग शनिवार को हाथरस पहुंच रहा है।

Leave a Reply